Kitchen Chimney – रसोईघर के लिए कौन सा सबसे अच्छा हैं? (Kitchen Chimney Buying Tips in Hindi)

रसोईघर के लिए चिमनी गाइड हिंदी में: आपके लिए कौन सा सबसे अच्छा हैं? (Kitchen Chimney Buying Tips in Hindi)

 

आज के दौर में विस्तृत शहरीकरण के फलस्वरूप अधिकतर लोग पलायन कर बड़े शहरों की ओर रुख कर रहें हैं। ऐसे में अपार्टमेंट शैली का चलन बहुत अधिक बढ़ा हैं। जिसके कारण लोगो की जीवन शैली एवं रोजमर्रा की जरूरतों में भी विशेष बदलाव आया हैं। जो की उन्हें विविध नए उपकरणों एवं तकनीकों के प्रयोग के लिए प्रेरित कर रहा है।

रसोई चिमनी भी एक ऐसा ही उपकरण है। जो रसोई को उत्पन्न धुएं और तेल से दूर रखने में मदद करता है। चिमनी के होने से किचन में खाना बना रहे व्यक्ति को धुएं से कोई परेशानी नहीं होती हैं और साथ ही आंखों में पानी और गले में खराश जैसी दिक्कतें भी नहीं होती है। ऐसे में यदि आप भी अपने लिए एक रसोई चिमनी लेने का विचार कर रहे हैं। तो आप बिल्कुल सही जगह पर हैं। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बताएंगे कि आप किस प्रकार अपने लिए एक बेहतर और गुणवत्तापूर्ण रसोई चिमनी ले सकते हैं।

रसोई चिमनी खरीदते समय क्या ध्यान में रखें (Kitchen Chimney Guide in Hindi):

रसोई चिमनी खरीदते समय आपको निम्न बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए-

रसोई चिमनी के प्रकार (Types of kitchen chimneys)
चिमनी फिल्टर प्रकार (chimney filter types)
चिमनी का सक्शन पावर (suction power of chimney)
चिमनी का आकार (Size of the chimney)
चिमनी डिजाइन (Chimney design)
चिमनी डक्टिंग (Chimney ducting)
कीमत (Price)
गारंटी (Guarantee)

रसोई चिमनी के प्रकार (Types of kitchen chimneys):

सर्वप्रथम रसोई के लिए चिमनी लेते वक्त उसके प्रकार को सुनिश्चित कर लें। आमतौर पर रसोई चिमनी की क्षमताओं के आधार पर यह मुख्य रूप से चार प्रकार की होती है-

  • वॉल माउंटेड चिमनी (Wall mounted chimney)
  • द्वीप चिमनी (Island chimney)
  • निर्मित चिमनी (Built-in chimney (Integrated))
  • कॉर्नर चिमनी (Corner chimney: Rare in India)

वॉल माउंटेड चिमनी (Wall mounted chimney):- यह चिमनी मुख्यतः रसोघर की दीवार से सटी हुई होती है। उदाहरण के लिए एलिका एक्वा प्लस LTW 60 एवं काफ चिमनी रे 60 बेहतरीन वॉल माउंटेड चिमनी के उदाहरण हैं।

द्वीप चिमनी (Island chimney):- द्वीप चिमनी मुख्य रूप से खाना पकाने के मंच अथवा दीवार से दूर रसोई के केंद्र में स्थित होती हैं। कुछ बेहतरीन द्वीप चिमनी के उदहारण आईएफबी जीएल 90 सिल्वर एवं कैरीसिल रॉक चिमनी हैं।

निर्मित चिमनी (Built-in chimney):- बिल्ट-इन चिमनी अधिकांशतः दीवार पर न होकर रसोई में उपस्थित लकड़ी के फर्नीचर के अंदर एकीकृत होती हैं। जो मुख्य तौर पर फ्लैट्स के लिए उपयुक्त माना जाता हैं क्योंकि यह कम स्थान घेरता हैं।

कॉर्नर चिमनी (Corner chimney):- कॉर्नर चिमनी को कोने की चिमनी भी कहा जाता है क्योंकि इसे रसोई के कोने में भी लगाया जा सकता हैं। मुख्य तौर पर खाना पकाने का शीर्ष या दीवार के कोने पर स्थित होब पर इसे लगाया जाता है।

चिमनी फिल्टर प्रकार (chimney filter types):

रसोई चिमनी लेते वक्त उसके फिल्टर के प्रकार की भी विशेष जांच करें और अपने आवश्यकता के अनुरूप फिल्टर का चयन करें। हालाकि, मुख्य तौर पर फ़िल्टरिंग प्रक्रिया के आधार पर चिमनी फ़िल्टर को तीन श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया हैं-

  • कैसेट फ़िल्टर (Cassette filter)
    बैफल फिल्टर (Baffle filter: best for Indian food)
    कार्बन फ़िल्टर (Carbon filter)
  • कैसेट फ़िल्टर (Cassette filter):कैसेट फिल्टर एल्यूमीनियम की जाली से बना होता है। जो एक दूसरे पर स्टॉक किया जाता है। जाल के बीच के अंतर द्वारा ही धूल, धुआं और ग्रीस इसमें फंस जाते हैं और साफ हवा अंदर आने देते है।
  • बैफल फिल्टर (Baffle filter): बैफल फिल्टर एक बाधक प्रवाह नियंत्रण कक्ष है। जो कई कर्व स्ट्रक्चर में बनाया जाता है। जब खाना पकाने की हवा इन वक्रों से गुजरती है। तो धुएं की हवा की दिशा बदल जाती है और इस प्रक्रिया में भारी ग्रीस, धूल और धुआं इसमें फंस जाते हैं।

कार्बन फ़िल्टर (Carbon filter):कार्बन फिल्टर को चारकोल फिल्टर के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि यह काले चारकोल से बना होता है। कार्बन फिल्टर मुख्य रूप से गंध को अवशोषित करने के लिए उपयोग किया जाता है। कार्बन फिल्टर एक वैकल्पिक है। इसके साथ बैफल और कैसेट फिल्टर को भी इस्तेमाल किया जाता है, क्योंकि कार्बन फिल्टर का इस्तेमाल केवल रीसाइक्लिंग और बिना डक्ट के मामले में ही उपयोग किया जाता है।3. चिमनी का सक्शन पावर (suction power of chimney): रसोईघर के लिए चिमनी खरीदते वक्त चिमनी की सक्शन पावर का विशेष ध्यान रखें, क्योंकि इसके पावर जितनी ज्यादा होती है। रसोई उतनी ही गंध एवं धुएं रहित होती है। एक आदर्श चिमनी की क्षमता 500 मीटर क्यूबिक प्रति घंटा से 1,200 मीटर क्यूबिक प्रति घंटा होती है। इसमें 900 मीटर क्यूबिक प्रति घंटा से 1,000 मीटर प्रति घंटा सक्शन पावर वाली चिमनी भी शामिल हैं।

 

 

चिमनी का आकार (Size of the chimney):

चिमनी लेने की प्रक्रिया में किचन के आकार की एक विस्तृत भूमिका है। जो की रसोई के आकार से भी संबंधित हैं। यदि रसोई बड़ा हैं तो ज्यादा सेक्शन पावर की वाली चिमनी लगाना ही उपयुक्त रहता है। एक अनुमान के अनुसार यदि किचन की चिमनी को एक घंटे में दस गुना शुद्ध हवा से भरने की जरूरत होती है। तो इसके लिए आपको चिमनी चुनने से पहले किचन की आयतन को दस से गुणा करने के बाद जो क्षेत्रफल आए, उतनी ही सक्शन पावर वाली चिमनी को रसोई में लगाना सही होता हैं। अतः विशेष जांच के बाद ही अपने आवश्यकतानुसार चिमनी का चयन करें।

चिमनी डिजाइन (Chimney design): रसोई चिमनी के डिजाईन के आधार पर मुख्य रूप से चिमनी दो प्रकार की होती हैं-

  • पारंपरिक रसोई चिमनी (Conventional Kitchen Chimneys)
    समकालीन रसोई चिमनी (Contemporary Kitchen Chimneys)
  • पारंपरिक रसोई चिमनी (Conventional Kitchen Chimneys): यदि आपकी रसोई में ज्यादा जगह नहीं है तो यह चिमनी बेस्ट हैं। क्योंकि इनमें हुड नहीं होता है। हालाकि, यह काम वैसे ही करती हैं जैसे हुड वाली चिमनी करती है। लेकिन इनको कम जगह की जरुरत होती है।
  • समकालीन रसोई चिमनी (Contemporary Kitchen Chimneys): यह चिमनी आपके किचन में स्टाइल जोड़ देती हैं। यह कई साइज और डिजाइन में उपलब्ध हैं। अपने बजट के अनुसार आप किसी भी डिजाइन की चिमनी खरीद सकते हैं।
  • चिमनी डक्टिंग (Chimney ducting): चिमनी में पीवीसी पाइप्स के जरिए धुआं और गैस किचन के बाहर निकल जाते है। जो यह सुनिश्चित करता हैं कि आपका रसोई किस चिमनी के लिए उपयुक्त है। हालाकि, चिमनियां में यह दो अलग माध्यमों से होता हैं-
  • डक्टिंग चिमनी (Ducting Chimney)
    डक्टलैस चिमनी (Ductless Chimney)
  • डक्टिंग चिमनी (Ducting Chimney): इन चिमनियों की विशेषता यह होती है कि इनमें मैश और बफल फिल्टर लगा होता है, जो खाना पकाते समय धुएं के साथ उड़ने वाली चिकनाहट को भी सोख लेता है। यह मुख्य तौर पर बड़ी रसोई के लिए उपयुक्त होता है। यदि आपका किचन बड़ा हैं। तब ही इस चिमनी का चुनाव करें।

डक्टलैस चिमनी (Ductless Chimney): इन चिमनियों का उपयोग मुख्य तौर पर फ्लैट्स अथवा छोटे घरों में अधिक इस्तेमाल किया जाता है। बाजार में कई फ्लैक्सिबल डक्ट वाली डक्टलैस चिमनियां उपलब्ध हैं। इनमें डक्ट को जरूरत के हिसाब से लगाया और निकाला जा सकता है।

कीमत (Price):

रसोई चिमनी लेते वक्त उसके कीमत का विशेष ध्यान रखें क्योंकि मार्केट में ऐसे कई ब्रांड्स मौजूद है। जो कम कीमत पर अधिक गुणवत्ता प्रदान कर रहे हैं। इसीलिए ऐसा बिल्कुल भी आवश्यक नहीं है कि आपको केवल महंगे ब्रांड की चिमनी में ही बेहतर सुविधाएं मिलेंगी। मार्केट में ऐसे भी विकल्प मौजूद हैं। जो आपको कम कीमत पर अधिक सुविधाएं मुहैया करवा रहें हैं।

गारंटी (Guarantee):

चिमनी का चयन करते समय उसके गारंटी पीरियड का भी विशेष ध्यान रखें। बाजार में कई चिमनियां विभिन्न अंतरालो के गारंटी के साथ मिलती है। जो की मुख्य तौर पर चिमनी की कीमत पर निर्भर करता है। आप अपने बजट के अनुरूप एक गुणवत्तापूर्ण चिमनी का चयन करें। आमतौर पर एक गुणवत्तापूर्ण और अच्छे ब्रांड की चिमनी 10 से 15 साल तक चलती है। अतः उसके अनुरूप ही गारंटी पीरियड वाले चिमनी का चयन करें।

Leave a Comment